Feeds:
पोस्ट
टिप्पणियाँ

Posts Tagged ‘झलक’

तेरी इक नजर को तरसे है ये नैना
पर तू ना जाने कहाँ  गुम है।
ख्वाबो मे इक झलक दिखलाकर
फिर से ना जाने कहाँ  गुम है।
तुझसे ना दूर होंगे ऐसा तेरा वादा था
पर हर वादा भूलकर तू ना जाने कहाँ  गुम है ।

Advertisements

Read Full Post »