Feeds:
पोस्ट
टिप्पणियाँ

Posts Tagged ‘मुस्कान’

मेरे होठो की मुस्कान देखकर
गर वो समझते है की मैं खुश हूँ
तो उन्हें इसी
गलतफहमी मे खुश होने दो 

कल उजड़ जाएगा मेरा ये आशिअना
जाने फ़िर कहाँ बसेरा पाऊँगी
कम से कम आज की रात
तो मुझे चैन से सोने दो 

दिल का गुबार आंखो से
आंसू बन बह निकला है
कोई न रोको इसे
आज जी भर के रोने दो 

जा रही हूँ आज ,तेरी
छाँव  के बिना कैसे रह पाऊँगी
लौट के फिर आने के लिए
आज मुझे जाने दो
Advertisements

Read Full Post »